एक सब्जी जरूर खाएं, 7 बीमारियां दूर भगाएं

Image credit google एक सब्जी जरूर खाएं 7 बीमारियां दूर भगाएं

डायबिटीज मरीजों के लिए चिचिंडा की सब्जी दवा से कम नहीं है। इसमें टीडायबिटिक एक्टिविटी पाया जाता है। यह डायबिटीज से काफी हद तक राहत देती है। डायबिटीज करे कंट्रोल image credit google

चिचिंडा की सब्जी खाने से बुखार में औषधीय की तरह काम करता है। यह मलेरिया के उपचार में मददगार है। बुखार में आराम image credit google

चिचिंडा की सब्जी खाने से हमारा दिल हेल्दी रहता है। चिचिंडा में कुकुरबिटासिन बी कुकुरबिटासिन ई कैरोटीनॉयड और एस्कॉर्बिक एसिड पाया जाता है जो शरीर में एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करते हैं। ये एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर में ऑक ्सीडेटिव डैमेज को कम करते हैं। ऑक्सीडेटिव डैमेज ���ोने पर दिल की बीमारियां होती हैं। दिल के मरीज के लिए image credit google

चिचिंडा का सेवन करने से पाचन बेहतर होता है। चिचिंडा में मिलने वाले सॉल्युबल डाइटरी फाइबर पाए जाते हैं जो खाना पचाने में हेल्प करते हैं। इससे कॉन ्स्टिपेशन की परेशानी नहीं होती है और डा��जेशन सही रहता है। कब्ज करे दूर image credit google

पीलिया में मरीजों को चिचिंडा खाने की सलाह दी जाती है। क्योंकि चिचिंडा के पत्तों को पानी में उबालकर और फिर ठंडा करें। इसके बाद 10 धनिया के पत्ते डालकर उबालें। इसके बाद दोनों को मिलाकर मरीज को पिलाएं इससे पीलिया में काफी ���ुधार होगा। पीलिया का इलाज image credit google

जो लोग वजन कम करने के लिए तरह तरह की डाइटिंग करते हैं वो अपने आहार में चिचिंडा शामिल करें। चिचिंडा कम कैलोरी वाली सब्जी है जो बॉडी में फैट नहीं बढ़ने देती और वेट को कंट्रोल करती है। मोटापे का डर नहीं image credit google

चिचिंडा डैंड्रफ की समस्या से छुटकारा दिलाता है। बालों में डैंड्रफ होने पर चिचिंडा के पत्तों का यूज किया जाता है जिसमें एंटी डैंड्रफ एजेंट हैं। तीन बार चिचिंडा के रस को बालों में 15 मिनट लगाकर छोड़ दें और बाद में वॉश कर लें। इससे रूसी से निजात मिलेगा। डैं���्रफ से छुटकार ा पाएं image credit google

चिचिंडा की सब्जी बनाकर खा सकती हैं और मूंग की दाल में भी चिचिंडा डालकर आप बना सकते हैं। बेसन में चिचिंडा मिलाकर चीला बनाकर खाएं। चिचिंडा को पकोड़े के रूप में भी खा सकते हैं। कैसे खाएं चिचिंडा image credit google